English Kaise Sikhe in Hindi

Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

English Kaise Sikhe in Hindi

English Kaise Sikhe in Hindi

नमस्कार साथियों !

Important Gyan में चलिए मित्रों ज्ञान की बातें दिल से करते हैं। आज हमारे लेख का विषय है की अंग्रेजी कैसे सीखें। लेकिन इससे पहले जरुरी है की अंग्रेजी क्यों सीखें? सबसे पहले अपने दिलों दिमाग में यह बैठा लीजिये की हमें कुछ भी सीखना है तो पहले उसकी इम्पोर्टेंस को समझना जरुरी है और यह समझ दिमाग से नहीं दिल से होना चाहिए । जब भी आपका दिल कहे उसको शुरू कर दीजिये लेकिन करिये तो ऐसा की उसको सीख के ही मानिये। English Kaise Sikhe in Hindi

हमारे देश में अंग्रेजी एक खौफ की  भाषा  है। और हो भी क्यों न ? हमारी ये हमारी मातृ भाषा जो नहीं। और तो और इसको दोयम दर्जा जो मिला है। कुछ तो लोग इसको हेय दृष्टि से देखते हैं।लेकिन बदलते दौर में अगर हम न संभल सके तो आप लोगों को नहीं मालूम की हम कितने पीछे हो जाते हैं चाहें वो आर्थिक हो चाहें सामाजिक।

हमें हमेशा जागरूक रहना चाहिए और देखना चाहिए की समय का रुख क्या है। अगर हम नदी के धारा के विपरीत तैरेंगे तो नदी हमें थका देगी और क्या पता डूबा भी दे। अंग्रेजी एक ऐसा विषय है जिसको अंतर्राष्ट्रीय स्तर का दर्जा मिला है अगर हमें अपने देश और दूर देश में भ्रमण करना है और अपना कैरियर बनाना है तो इसकी इम्पोर्टेंस को समझना होगा और इस पर दिल से काम करना होगा।

अगर आप अंग्रेजी पढ़ना,लिखना,समझना और बोलना सीख जाते हैं तो शायद आपको नहीं मालूम की आपका व्यक्तित्व कितना निखर जायेगा और आप दुनिया के भेड़-चाल से एकदम अलग होकर एक नयी मुकाम हासिल कर लेंगे।विषय न बदल जाये तो चलिए मित्रों देखते और समझते हैं की अंग्रेजी कैसे सीखें? English Kaise Sikhe in Hindi

 सबसे पहले तो अपने अंतर्मन से इसको स्वीकार कीजिए और इसके रंग में रंग जाईये और कुछ बातों का ध्यान रखें और उसपर अमल करें और उसका विकास करें जो नीचे बताया गया है,जैसे-

  • Reading
  • writing
  • Understanding
  • Speaking
  • listening
  • learning
  • Memorizing 

Reading:-

अगर आप को अंग्रेजी पढ़ना आता है थोड़ा बहुत तो सबसे पहले तो आप बेसिक लेवल की किताबें पढ़ें जिसमें छोटे छोटे वाक्य और शब्द दिए रहते हैं कोई भी चीज अंग्रेजी में पढ़ना है तो छोटे छोटे वाक्यों में पढ़ना चाहिए और जिस शब्द को पढ़ने में दिक्कत हो रही है उसका उच्चारण जरूर देख लें। English Kaise Sikhe in Hindi

अगर एकदम नहीं आता तो सबसे पहले आप हिंदी वर्णमाला को अंग्रेजी में लिखना और पढ़ना सीखें जिसको हिंगलिश बोला जाता है। जैसे आजकल हम लोग चैटिंग करते रहते हैं। इसका खूब अभ्यास करें और उसके बाद सबका नाम,घरेलु वस्तुओं का नाम,फलों का नाम,सब्जियों का नाम और आसपास की वस्तुओं का नाम अंग्रेजी में लिखें और अभ्यास करें और उसके बाद छोटे छोटे बच्चों की किताबें पढ़ने का अभ्यास करें तो निश्चित तौर पे अंग्रेजी सीखने में सफलता मिलेगी।  

हम बड़े-बड़े वाक्य लगते हैं, पढ़ने और जब समझ नहीं आता तो छोड़ देते हैं। पढ़ना भी एक कला है और नियमित पढ़ें एक समय भी बना लें और जहाँ भी कोई वाक्य और शब्द देखें उसको जरूर पढ़ें और समझने में दिक्कत आये तो इंटरनेट की दुनियाँ में उसका मतलब जरूर Search करें।

एक एक कदम बढ़ाते जाईये और मंजिल को करीब पाइए। इसके अलावा जब कुछ पढ़ने की कला का विकास हो जाये तो आप कुछ बड़े लेवल की मन पसंद किताब, नॉवेल, लेख या Newspaper का चुनाव कर लें और उसको मन लगा के पढ़ें और जो कठिन शब्द आये उसको कहीं नोट कर लें। जहाँ तक मेरा अनुभव है आप कुछ समय बोल-बोल के पढ़ें और कुछ समय मन में पढ़ें।शुरू में जिस टॉपिक में मन लगे सबसे पहले उसी को पढ़ें।  English Kaise Sikhe in Hindi

Writing:-

लेकिन मित्रों सिर्फ पढ़ने तक अपने को मत सीमित रखिये। एक लेखन शैली का भी विकास करना है जो पढ़ें उसको लिखें। आप जीतना लिखेंगे उतनी इंग्लिश पर अपनी पकड़ बना पाएंगे और उतना ही आपका उच्चारण ठीक होगा और याद भी उतना ही जल्दी होगा। कुछ इंग्लिश शब्दों का चुनाव करें। शुरू में नए शब्द न लें। अपने आस-पास के चीजों का अंग्रेजी में लिखें और उसका प्रयोग करें।एक लक्ष्य तय करें की मुझे रोज इतने शब्द याद करने यही निश्चित तौर पर आप लोगों को सफलता मिलेगी।

Understanding:-

जब आप अंग्रेजी पढ़ना और लिखना सीख जायँ तो अपनी समझ को बढ़ाएं , अंग्रेजी के प्रति। जितना गहरी समझ होगी उतना ही आप जल्दी और आसानी से अंग्रेजी सीख पाएंगे। खूब मन लगाएं और नए नए शब्द याद करें और उन शब्दों को व्यव्हार में लाएं।आप जितना ज्यादा पढ़ेंगे-लिखेंगे उतना ही समझ का विकास होगा। English Kaise Sikhe in Hindi

Speaking:-

अगर आपके पास अंगेजी की समझ का विकास हो गया तो आप छोटे-छोटे वाक्यों को बोल-बोल के पढ़ने का अभ्यास करें जो फ्रेमिंग वाक्य होते हैं। अब आपके पास सेंटेंस भी है और शब्द भंडार भी है। एक मजे की बात तो तब होती है जब व्यक्ति के पास शब्दों का भंडार नियमित बढ़ता है तो आपके होंठ बेचैन हो जाते हैं अंदर के शब्दों और वाक्यों को बाहर निकालने के लिए। 

हालांकि अंग्रेजी बोलने के लिए ज्यादा ग्रामर और  नियम पर मत जाईये बस अपने अंदर और बाहर  माहौल का विकास करें और अंदर से शर्म को बाहर करें अगर आज शर्मा गए तो समय हाथ में रेत की तरह फिसल जायेगा और आप अंग्रेजी नहीं सीख पाएंगे। जिससे आप शर्मा रहे हैं अगर आप अंग्रेजी सीख जायेंगे तो कल वो आपसे शर्मायेंगे।

Listening:-

 अंग्रेजी सीखने का एक और तरीका है अंग्रेजी को सुनना। आप रेडिओ सुनिए ,टीवी न्यूज सुनिए,म्यूजिक और इंग्लिश सांग सुनिए और सबसे बढ़िया तरीका आप कुछ इंग्लिश मोटिवेशनल स्पीच आते हैं उनको जरूर सुने इससे बहुत लाभ मिलेगा।और धीरे धीरे अपनी  बढ़ाइए। भले ही आपको कम या अधिक समझ आये जरूर नियम से सुनिए और कुछ अकेले में सुनके जितना ही समझ आये उसका अभ्यास करें। 

Learning:-

सीखना एक ऐसी कला है कि आपको बहुत उचांई तक पहुंचा देगी। हर व्यक्ति को नियमित कुछ वाक्य, कुछ ग्रामर के नियम,कुछ शब्द भंडार सीखना चाहिए। English Kaise Sikhe in Hindi

आप वर्ड मीनिंग याद करने के लिए Newspaper का सहारा लें और उन शब्दों को कहीं नोट करके अपने पॉकेट में रखें और जब भी खाली रहें उनको देखें और जहाँ माहौल देखें उनका वाक्य प्रयोग करें। बिना व्यवहार में लाये उन शब्दों को आप भूल जायेंगे। जितना आपके पास समय है उतना ही एक दिन में वर्ड मीनिंग याद करें। English Kaise Sikhe in Hindi

Please Also Read

Memorizing:-

  • किसी भी चीज को याद  रखने का सबसे बढ़िया  तरीका है आप उतना ही शब्द या वाक्य याद करें जितना आप उसको प्रयोग में ला पाएं। बिना वाक्य प्रयोग किये या व्यवहार में लाये आप बहुत दिनों तक याद नहीं रख सकते हैं।
  • दूसरा तरीका है याद रखने का- शब्दों को किसी घटना या कहानी से जोड़कर देखें और तब देखें आपको वो शब्द लम्बे दौर तक याद रहेंगे।
  • तीसरा तरीका है जब भी कोई चीज देखें उसको अंग्रजी में ही सोंचकर देखें और बोलें और कुछ मन में भी बोल रहे हैं तो अंग्रेजी में ही बोले।
  • चौथा तरीका है-लोकल newspaper (लोकल घटना ) वाले आर्टिकल पढ़ें और उनके शब्दों को अपने व्यहार में लाएं।

जितना छोटे-छोटे शब्दों का चुनाव करके आप याद करेंगे और उसका रोज मर्रे की जिंदगी में प्रयोग करेंगे उतना ही आप जल्दी और आसानी से सीख पाएंगे। कुछ लोग क्या करते हैं की हमें अंग्रेजी सीखना है तो तुरंत कोचिंग ज्वाइन कर लेते हैं। ना भाई ना ऐसा मत करें नहीं तो सफलता हाथ नहीं लगेगी और अंग्रेजी से दिल टूट जायेगा।जब छोटा-मोटा घर पर ही अंग्रेज हो जाएँ तो ही कोचिंग क्लासेज ज्वाइन करें। कोचिंग क्लास्सेस एडवांस  लेवल के लिए ठीक होता है जहाँ आप कुछ नए तरीके सीख पाएंगे। 

तो अब मेरे  प्यारे मित्रों अब मैं अपनी लेखनी को यहीं विराम देता हूँ। अगर कहीं भूल चूक दिखे तो तो मानवीय भूल  समझ के छमा कर दीजियेगा और कोई सुझाव हो तो वो भी कमेंट के जरिये हमें अवगत कराईयेगा हम अपने लेख में उसको जरूर सम्मान देंगे और कुछ पूछना हो तो जरूर पूछे। आपका दिन शुभ हो ! English Kaise Sikhe in Hindi

FAQ:-

प्रश्न:-

क्या अंग्रेजी  सीखने के लिए अंग्रेजी मीडियम में पढ़ना जरुरी है क्या ?

उत्तर:– 

नहीं ! ऐसा कोई जरुरी नहीं अंग्रेजी एक भाषा है और हर कोई सीख सकता है बस जरुरत है तो मेहनत और अभ्यास करने की ।

प्रश्न:-

क्या अगर अंग्रेजी कमजोर है तो भी हम अंग्रेजी सीख सकते हैं और कैसे ?

उत्तर:

अंग्रेजी कमजोर होने के बाद भी अंग्रेजी सीखी जा सकती है अगर जीवन में कुछ कर गुजरने इच्छा है तो। आप लोग कुछ दिन मेहनत और अभ्यास कीजिये निश्चित सफलता मिलेगी।

प्रश्न:-

अंग्रेजी सीखने की लिए ग्रामर को रटना जरुरी है? 

उत्तर:

सबसे पहले तो समझ लीजिये की कोई भी विषय या भाषा रटने की नहीं बल्कि समझने की जरुरत होती है और कड़ी मेहनत और अभ्यास की। इसके कुछ नियम समझ लें और बेझिझक होकर बोलना शुरू कर दें  सफलता मिलेगी ।

प्रश्न:-

हम अंग्रेजी कैसे सीखें एक समस्या है ?

उत्तर:

समस्या को समस्या मत बनाएं। समाधान पर ध्यान दें और हमने इस लेख कुछ नियम सुझाएँ हैं उसका पालन करें और कुछ अपने दिमाग की उपज को बढ़ा के उसका सही तरीके से इस्तेमाल करें आप जरूर अंग्रेजी सीख जायेंगे।


Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hi! I am Ajitabh Rai and Founder of www.importantgyan.com My main aim is Explore & Provide best,vailubale and accurate knowledge to our viewers like General Study, Health, English, Motivation and Others important & Creative Idea across India. All aspirants & Viewers can get all details with easily from my respective website.

Leave a Comment

error: Content is protected !!