How to be Happy in life in Hindi

Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

How to be Happy in life in Hindi-जीवन में खुश कैसे रहें?

नमस्कार साथियों!

How to be Happy in life

इम्पोर्टेन्ट ज्ञान में ज्ञान की बातें हम दिल से शेयर करेंगे। मित्रों आज मेरे लेख का विषय है हम अपने जीवन में खुश कैसे रहें? हम समझ नहीं पाते हैं की आज के वैज्ञानिक युग में खुश रहने और अपना दिल बहलाने के लिए कितने सारे साधन मौजूद है और कितने सारे किताबें और वर्कशॉप हैं लेकिंन इंसान अंदर से कितना उदास और अकेला हो गया है। 

हम इतने तन्हा और अकेले क्यों हैं?

अब दिनों और घंटों का काम सेकेंडों में हो जाता है। आप जब चाहें, जैसे चाहें,जिस तरह चाहें, जिससे चाहें तुरंत संपर्क कर सकते हैं लेकिन करें तो कैसे जनाब हमारे अंदर दूरियां जो मौजूद हैं। पहले मीलों की जगह दिलों में  था और अब दिलों का स्थान मीलों ने ले लिया है। कहीं इन त्वरित साधनों ने तो नहीं न इस दिल्लगी को अपने गिरफ्त में लेकर दूरियों की बेड़ियाँ पहना दिया है और अंधकार की कोठरी में हमें पूरी तरह जब्त कर लिया है जहाँ संबंधों का प्रकाश हमें दिख ही नहीं रहा। How to be Happy in life in Hindi

क्या खुश होना संभव है?

फिर हम खुश कैसे रहें? क्या ये संभव है? जरा सोचिये अगर पानी अपनी प्रकृति को बदल दे  तो क्या आप उसका सेवन करेंगे? नहीं भाई। आप उसको उठाएंगे और फेंक देंगे कहेंगे की अरे ये तो  गन्दा पानी है कौन पियेगा इसे ? फिर हम अपनी प्रकृति को बदल कर क्यों जी रहे हैं ? तनिक विचार करिये।How to be Happy in life in कृपया इसे भी पढ़ें

Hindiक्या ये संभव है कि हम जीवन भर और हर पल खुश रह पाएंगे? हर पल इतनी समस्याएं हमारे इर्द गिर्द मंडरा रही है की एक पल दुःख तो एक पल सुख  चलता ही रहता है। सुख में तो हर आदमी खुश रह सकता है लकिन दुःख में कैसे खुश रहें? कहने और करने में बहुत अंतर होता है। जिसके जीवन में कोई बड़ी अनहोनी हो जाती है तो उससे पूछिए की वो कैसे खुश रहेगा। लोग तरह तरह के प्रवचन देकर और विधि बता के निकल जाते हैं।लेकिन उनके ऊपर भी मुसीबत आती है तो वो भी दुखी होंगे। 

मन की प्रकृति 

कोई अपना प्रिय चला जाय तो सुखी और खुश कैसे रहें। कुछ हम मोटिवेशनल बातें सुनके और रट के कब तक खुश रह पाएंगे जब बड़ी मुसीबत आती है तो बुद्धि काम नहीं देता है। जीवन में होनी(घटना) तो होगी ही और मन का नेचर है की वो सुख और दुःख दोनों का आपको मजा चखायेगा और सुख में नाच नचायेगा और दुःख में ऐसा धकेल देगा की लोग आत्म हत्या करने को मजबूर हो जाते हैं।

अरे! तो सबसे बड़ा हमारा मन ही दुश्मन तो नहीं। यही तो है जब ठीक से काम कराये तो हमें भागवान का दर्जा दिला देता है और गलत काम कराये तो गर्त में ले जाके फेंक देता है।जहाँ से उबरना बहुत ही मुश्किल हो जाता हैं।

सुख और दुःख का अनुवभ कराना तो  मन की प्रकृति है जनाब। और किसी के प्रकृति को आप बदल नहीं सकते हैं और बदलने के कोशिश करेंगे तो फिर आप ही सोचिये क्या अंजाम होगा। और भी ज्यादा विचलित हो जायेंगे आप। लेकिन हमें कुछ तो करना ही पड़ेगा नहीं तो जियेंगे कैसे?

सुख और दुःख का चक्र 

ग़ालिब ने कहा है कि “गम की नहीं कटती एक रात और दिन गुजर जाते हैं सौ आराम के क्या बताऊँ ग़ालिब गम एक बड़ी बुरी बला है” गम जल्दी कटता  नहीं है लेकिन और ख़ुशी के दिन तुरंत कट जाते हैं। How to be Happy in life in Hindi

सुख और दुःख भी दो तरह का होता है-एक तो साधारण और दूसरा विकट। साधारण दुःख में तो हम अगर समझदार हैं तो तुरंत अपने को समझा लेंगे और खुश हो जायेंगे लेकिन विकट दुःख ही तो जहाँ पर सारा ज्ञान फेल हो जाता है और बड़ा से बाद ज्ञानी मार खा जाता है। 

समाधान क्या है ?

चलिए अब हम कुछ समाधान की बातें कर लें समस्याँओ का तो जखीरा बना ही है जीवन में । इससे नहीं निकल पाए तो जीवन जीना और दिनचर्या सही करना बड़ी मुश्किल हो जायेगा। एक बात हमेशा याद रखें समस्याएं कभी समाप्त नहीं होती। 

सच्चाई को स्वीकार करें  

सच्चाई को सवीकार करने की ताकत हमारे पास होना चाहिए अर्थात जो हमारे जीवन में घटनाएं घट रहीं हैं वो घटेंगी ही इसका कोई तोड़ नहीं। हर पल आपको तोडा जायेगा लेकिन हम स्वीकार कर लें की ये तो प्रकृति का नियम है और हमें झेलना ही है तो हम दुखों से कुछ ऊपर उठ जायेंगे। जो जीवन है वह है इसमें कोई दो राय नहीं है। सुख दुःख एक ही सिक्के के दो पहलू है। हेड और टेल।  

परिश्थितियों को समझें 

सबसे पहले तो आप अपने परिश्थियों के प्रति जागरूक बने और अपने मन को समझाना सीखें की अगर सुख भोगने के हम अधिकारी हैं तो दुःख कौन झेलेगा ? हमें अपने जीवन में हर चीज की कीमत चुकानी पड़ेगी। और कीमत अच्छा या बुरा हो सकता है। जैसे कोई बच्चा सरकारी नौकरी की तयारी करता है तो वह हमेशा तैयार रहता है की कैसा भी प्रश्न आ आजायेगा मैं उसको हल कर लूंगा। आप यकीं मानिये वही सफल भी होता है।How to be Happy in life in Hindi

ऐसे ही हमें भी अपने को इस कदर तैयार रखना है की जो भी परिश्थिति पैदा होगी उसको हम देख लेंगे और उससे उबर भी जायेंगे। 

समझदार और विवेकी बने

मित्रों समझदारी एक ऐसी प्रकृति है की आपको बड़ी से बड़ी मुसीबत से भी बाहर निकल देगी। अपने अंदर हमें एक समझदारी का विकास करना पड़ेगा की इतनी लम्बी उम्र है तो इन दोनों पहलुओं को जीना पड़ेगा। ज्ञानी बने या न बने लेकिन समझदार जरूर बने। समझ एक ऐसे कला है की कितनी भी बड़ी मुसीबत क्यों न आ जाये आप अपना कभी कुछ भी बिगड़ेंने  नहीं देंगे । हमारे पास विवेक है, समझदारी है तो हर समस्या से निकल जायेंगे। How to be Happy in life in Hindi

समझदारी से अपने रिश्ते,नातें और जीवन की वो तमाम परेशानियों पर विजय पा लेंगे और हमेशा खुश भी रहेंगे। यकींन मानिये ये मेरा व्यक्तिगत अनुभव है। 

हेल्दी शरीर बनायें 

मित्रों हमेशा खुश रहने के लिए हमारा शरीर श्वश्थ होना चाहिए और हमारा पाचन शक्ति मजबूत होना चाहिए। आज हमारे दुखों का कारण और ना खुश रहने का भी यही बड़ा कारण होता है। पाचन शक्ति कैसे मजबूत करें इसपर मैंने लेख लिखा है आप जरूर पढ़ें आपका जीवन सवर जायेगा और बताये गए घरेलु उपाय नियमित कर लिए तो जरूर हमेशा प्रशन्न रहेंगे।

इसे भी पढ़ें 

डर को समाप्त करें 

मन में एक उथल-पुथल बनी रहती है की कब क्या हो जायेगा? यही भविष्य का डर हमेशा हमारे मन को बेचैन किया रहता है और हमारे हंसी पर ताला मार देता है और हम दुखी हो जाते है लेकिन अगर हम समझ जाएँ की घटना  स्थायी नहीं होता और हम डरें या नहीं घटना तो होगी ही। एक न्यूज़ की हेडलाइन की तरह हमारे मस्तिष्क में रन करता रहता है। 

थोड़ा खुद पर,अपनी किस्मत पर  और ईश्वर पर भरोसा करें विश्वाश करें और शांत हो जाये, पानी पिए और थोड़ा टहलें और उस डर को ख़त्म करने का प्रयाश करें कुछ नहीं होगा। सब ठीक हो जायेगा,ये विश्वाश करें। ये डर हमें कुछ नहीं करने देता। विचार करें की मुझे घबराना नहीं है सब अच्छा अच्छा है।How to be Happy in life in Hindi

 सकारात्मक विचार अपनाएं 

मित्रों जो होता है,अच्छे के लिए होता हो। ये सच्चाई है। इस बात को तो अपने दिलों दिमाग में बैठाना ही पड़ेगा। जीवन में कुछ ऐसे घटनाये घटती हैं जिसपर हमारा वश नहीं रहता और उसे समय ही ठीक करता है। हम आप केवल परेशान होते हैं और अपनी खुशियों को खो देते हैं। सकारात्मक सोंच की अपनी एक शक्ति होती होती, इसको जरूर अपनाएं। 

समाधान पर ध्यान लगाए

हर पल हमारे सामने समस्याएँ अपना मुँह बाये खड़ी  रहती है और एक नयी चुनौती लेकर सामने आती है। एक समस्या सुलझाओ तो दूसरी समस्या सामने आ जाती है। हमें अपने को मानसिक और शारीरिक रूप से ऐसे मजबूत रखना है की जीवन में मुझसे बड़ी मेरी समस्या नहीं है मेरा रब मेरे साथ साई,मेरा भाग्य मेरे साथ है और समय मेरा सब कुछ है सब ठीक हो जायेगा। जो समस्या ठीक हो जाएगी मैं ठीक करूँगा जो नहीं ठीक होगी उसको मेरा रब ठीक करेगा। How to be Happy in life in Hindi

उलझनों को समाप्त करें 

साथियों मन में हमारे हमेशा कुछ न कुछ उलझन और बकबक चलता रहता है। इसके प्रति हमेशा सजग रहें और इसको कम करें और सही-गलत बातों में अंतर करना सीखें। इससे आपके जीवन में कुछ नया कमाल होगा। जब भी अकेले बैठे मन को थोड़ा शांत करें और अपने सांसो पर अपना ध्यान लगाएं और देखें के कौनसी समस्या मुझे ज्यादा परेशान कर रही है और कौनसी नहीं। इससे आपकी मानसिक शक्ति का विकास होगा और आप मन से मजबूत बनेगें।

मित्रों आगर हम अपने छोटे-मोटे झगड़े और उलझने सुलझाने में माहिर हो गए तो बड़ी बड़ी समस्याओं को तो हम चुकियों में सुलझा लेंगे अगर नहीं सुलझे तो फिर ईश्वर हमारे साथ है न जो  समय के साथ जरूर सुलझा देगा, ठीक कर देगा। विश्वाश करें। 

ईश्वर पर और  खुद पर विश्वाश करें

श्वामि विवेका नन्द ने कहा था “जिसको खुद पर विश्वाश नहीं वो ईश्वर पर क्या भरोसा करेगा?” बात सही है मित्रों! जो ईश्वर हमारे अंदर विद्यमान है और हमें उसपर नहीं विश्वाश है तो फिर हम ईश्वर पर भरोसा कैसे कर पायेँगे। हमारे अंदर खुशियॉ और शांति तभी आ पायेगी जब एक विश्वाश की धारा का विकास होगा। ये आपको जीवन के हर क्षेत्र में सफलता दिलाएगा। आप स्थिर हो पाएंगे और समस्याएँ सुलझा पाएंगे। 

ईमानदार बने 

ईमानदारी मित्रों एक शक्ति है अगर आप लोग इस पर काम कर पाएं तो मुझे नहीं लगता की आप जीवन में बहुत ज्यादा परेशान होंगे। ईमानदारी आपका धर्म है और धर्म आपकी रक्षा कवच बन के हमेशा आपकी रक्षा करेगा। और आपका मन भी हमेशा शांत रहेगाअगर हम आप किसी का नुकसान नहीं पहुंचायेगे तो सोचिये कौन हमारा नुकसान करेगा। 

अपने को भक्ति से जोड़ें 

भक्ति भी खुश रहने का एक अच्छा रास्ता है जो आपको हमेशा शक्ति देगा और आप अपने जीवन को सुखमय बना पाएँगे। भक्ति के माध्यम से हम अपनी बहुत सारी समस्यांओ को भगवान को सौंप दे और मन को एक नयी शांति दें। 

हमेशा अच्छी किताबें पढ़ें 

जीवन में कुछ आदतें अगर अच्छी रहें तो जैसे अच्छी  किताबें पढ़ना, लिखना और कुछ अच्छी अच्छी मोटिवेशनल और हंसी मजाक वाली मूवी देखना शुरू कर दें। इससे काफी  ख़ुशी मिलेगी।  

हमेशा व्यस्त रहें और मेहनत करें 

अपने कर्म को इम्पोर्टेंस दें और व्यस्त रहे इससे आपका  मन शांत रहेगा और आप हमेशा खुशदिल बने रहेंगे। अपन समय का उपयोग करें और महत्व दें और अपने कार्य क्षेत्र में पारंगत बने, हमेशा नए ज्ञान के तरफ ध्यान दें और सीखें बहुत मजा आएगा।

गुस्सा सही जगह करें

गुस्सा आना गलत  नहीं है लेकिन सही जगह और सही समय  पर गुस्सा करें।  ये कला जिसने विकसित कर लिया तो ये समझ लीजिये जीवन में तरक्की आनी शुरू  हो जाएगी। 

पानी खूब पियें 

मित्रों पानी आपके मन को, शरीर को बिलकुल शांत और मस्त कर देता है जब भी समय मिले आप  पानी पियें  इसके अद्भुत फायदे हैं , ये आजमाया हुआ नुस्खा है 

व्यायाम और ध्यान करें

जितना आपको इस व्यस्त भरे जीवन में समय मिले आप थोड़ा समय ध्यान और व्यायाम करने में लगयाए इससे आपको शारीरिक शक्ति तो मिलता  ही है मानशिक शक्ति भी मिलता है। 

कुछ अच्छे ग्रुप बनायें

कुछ अच्छे  और हंसी मजाक के ग्रुप बना के  रखें जब भी समय मिले संपर्क करें और खूब हँसे और मस्त रहें।मित्रों हंसना,हँसाना ,खेलना,कूदना और मस्त रहना ये हमारा स्वाभाव है और इसकी जगह चिंताओं और उदासियों ने ले लिया है हमें इसको दूर करना है और अपने जीवन को समझना है और हमेशा मुस्कराते रहना है। दोस्तों समस्यांओ का कोई अंत नहीं हमें सिर्फ समाधान  पर ध्यान देना है। सुलझे हुए इंसान बनें। 

समर्पण की भावना का विकास करें

मित्रों हमें अपने अंदर एक समर्पण की भावना का विकास करना चाहिए। विकट समस्यांओ के लिए समय और परमात्मा का सहारा लीजिये वही हैं जो हमें हर संकट से उबार पाएंगे।  प्रकृति के साथ अपना समय बिताएं।

अगर हम हम अपने दुःख और दुःख के कारणों का पता लगा लें और उस पर अच्छे से काम करे तथा जीवन के छोटी मोटी उलझनों को ख़त्म करने का निरंतर प्रयास करें तो जीवन काफी सुखमय हो जायेगा।  How to be Happy in life in Hindi

मैं अजिताभ राय इस लेख में “कैसे हम खुश रहे अपने जीवन में इसके बारे में बताने का प्रयास किया है”। ये सब मेरा व्यक्तिगत अनुभव किया गया प्रयोग है और मुझे इसमें सफलता भी मिलता है जबसे मैंने अपने अंदर स्थिरता और समझदारी का विकास किया तो मुझे काफी लाभ मिला तो सोचा की ये अनुभव इंटरनेट के माध्यम से आप लोगों में भी शेयर करूँ। How to be Happy in life

दोस्तों अब मैं अपनी लेखनी को यहीं विराम देता हूँ कुछ कमी वेशी रह गया हो उसके लिए छमा चाहता हूँ एक मानवीय भूल समझ के मुझे जरूर सुझाव दें उसको मैं अपने लेख में जरूर शामिल करूँगा और कुछ आप लोगों के मन में प्रश्न हो तो जरूर पूंछे मै उसका उचित  उत्तर दूंगा। आपका  दिन शुभ हो!

Regards

Ajitabh Rai

FAQ

प्रश्न:- क्या हम मोटिवेशन से अपनी सारी समस्या का समाधान कर सकते हैं?

उत्तर:- सिर्फ मोटिवेशन हम अपनी समस्या का समाधान नहीं कर सकते हैं। हमें अपने अंदर एक विवेक और समझ का विकास करना होगा और हर समय अपने जीवन के प्रति जागरूक रहना पड़ेगा तभी हम अपनी समस्याओं का निराकरण कर पाएंगे। 

प्रश्न:-हम अपने जीवन में हर समय कैसे मोटीवेट रहें?

उत्तर:-अगर हम समझदार हों और अपने कर्तब्यों के प्रति सचेत रहें और सिर्फ अपने बारे में न सोचकर दूसरों की भी सहायता करें और  हम खुद के प्रति ईमानदार बने रहे तो निश्चय ही हम सदैव मोटिवेट रहेंगे इसके साथ ही हम अपने पाचन शक्ति पर ध्यान दें और लालच को छोड़ दें तो बहुत लाभ मिलेगा। 

प्रश्न:-क्या हमें अपने समस्यांओं को समय पर छोड़ देना चाहिए?

उत्तर:-नहीं! जिन समस्यांओ का समाधान हम कर सकते हैं उनको जरूर सुलझाना चाहिए और जिनका नहीं कर सकते उनको समय पर छोड़ देना चाहिए यही नियति है।How to be Happy in life How to be Happy in life 

 

 

 


Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hi! I am Ajitabh Rai and Founder of www.importantgyan.com My main aim is Explore & Provide best,vailubale and accurate knowledge to our viewers like General Study, Health, English, Motivation and Others important & Creative Idea across India. All aspirants & Viewers can get all details with easily from my respective website.

2 thoughts on “How to be Happy in life in Hindi”

Leave a Comment

error: Content is protected !!