Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

Mind ko Kaise Control Kare

नमस्कार साथियों!

इम्पोर्टेन्ट ज्ञान के इस सीरीज में आप सभी का स्वागत है। आज फिर कुछ ज्ञान  की बातें दिल से शेयर करने का मन किया तो आपके सामने एक नए प्रसंग के साथ उपस्थित हुए। आज का प्रसंग है की हम अपने मन को कैसे शांत रखें या कण्ट्रोल करें? क्या ये संभव है? क्या आज तक अपने मन को किसी ने पूरी तरह कण्ट्रोल किया है? ये कुछ जबरजस्ती का शब्द नहीं लगता है।जिसका नेचर ही भटकना है उसको हम कण्ट्रोल करने चले है। Mind ko Kaise Control Kare

मैं आप लोगो से ये पूछना चाहता हूँ कि ये आवारा और चंचल मन को कण्ट्रोल करना चाहिए या ऐसे ही घूमने देना चाहिए।जिसको लगता है की नहीं करना चाहिए वो बेशक इस लेख को आगे पढ़ें।हमें मन को कण्ट्रोल करना चाहिए या जागरूक होकर उसपर काम करना चाहिए। मुझे तो ये शब्द ज्यादा अच्छा लग रह रहा है की कण्ट्रोल शब्द ना प्रयोग कर अपने मन के प्रति जागरूक होकर उस पर अच्छे से काम करना चाहिए और हमारे लिए क्या सही है और क्या गलत है इस बात पर विचार करना चाहिए।इसके लिए एक  समझ का ही तो विकास करना है।Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

आप ही लोग बताएं की क्या कभी माइंड को कण्ट्रोल या हमेशा के लिए शांत किया जा सकता है या इस संसार में कोई ऐसा टूल्स है जो कभी इसको कण्ट्रोल करले या शांत कर ले।मुझे तो नहीं लगता। मान लीजिये की आप आज अपने घर को अच्छे से साफ़ किये, नहाये, कपडा धोये तो क्या ये हमेशा के लिए साफ़ रहेगा या आपको रोज ये काम करना होगा। रोज सफाई करनी होगी। या मान लीजिये आज कोई फूल खिला तो क्या वो फूल हमेशा खिला रहेगा। वैसे हमारा मन है। मन का तो स्वाभाव ही है चंचल रहना, सुख-दुःख का अनुभव कराना। ये कभी हमेशा के लिए शांत हो ही नहीं पायेगा। 

लेकिन जब आप थोड़ा धैर्य रखना सीख जायेंगे और मन को समझाना सीख जाएंगे तो संभव है ये आपकी जीवन रूपी नैया को पार लगा देगा। हर पल घटनाओं के प्रति जागरूक हो कर आप इसको शांत करना सीख जायेंगे तो आपको मंजिल तक जरूर पहुंचा देगा। जो भी दैनिक घटनाएं हर पल घट रही है उसको सहजता से देखिये और समझिये फिर परिस्थिति के अनुसार उसको व्यवस्थित करिये। हर घटना के पीछे अपने मन को समझाना सीखिए और समय एवं भगवान पर भरोसा रखिये। 

जब हम एक बच्चे को जितना कण्ट्रोल करते हैं वो बच्चा उतना ही गलत रास्ता पकड़ लेता है वैसे ही तो मन है जितना हम कण्ट्रोल करेंगे ये मन उतना ही हमसे गलत काम कराएगा।जिस काम को न करने के लिए कहेंगे वो मन आपसे वही काम कराएगा। संसार में किसी चीज को कण्ट्रोल करना मेरे विचार से उचित कार्य नहीं है। और उसको वैसे ही छोड़ देना ये भी उचित नहीं है। तो फिर रास्ता क्या है?

रास्ता है, अपने जीवन में एक बैलेंस बनाइये,अपने मन के प्रति जागरूक और समझदार बनिए।अगर हम अपने मन के प्रति समझदार और जागरूक हो जायेंगे तो ये कण्ट्रोल शब्द हमारे जीवन से बिलकुल दूर चला जायेगा।अगर हम अपने मन को एकाग्र करना सीख गए तो हमें अपनी मंजिल को और सफलता को प्राप्त करने से कोई रोक नहीं सकता।हमें अपने लक्ष्य को पाना है तो मन की गति को समझना और उसपर काम करना ही पड़ेगा। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

मैं यहाँ कुछ उपाय का मैं जिक्र करूँगा उसको आप लोग प्रयोग करके देखिये आप लोगों को निश्चित तौर पर लाभ मिलेगा।लेकिन एक बात यह समझ लीजिये के ये सब सुझाव और उपाय एक कॉमन है। इस संसार में हर एक की अपनी अलग अलग समस्या और परिश्थियां होती हैं। ये सब देश काल के ऊपर निर्भर है। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

निरोगी काया :

अपने मन को सही दिशा में करने के लिए यह एक बहुत कारगर और जरुरी उपाय है। अगर हम चाहते हैं कि अपने मन को शांत और शकुन से रखें तो सबसे पहले अपने शरीर को और पाचन शक्ति को मजबूत करना होगा। आप सोचिये जरा आपने लाखों मोटिवेशन सीख लिया है लेकिन आपकी पाचन शक्ति कमजोर है और पेट सही नहीं तो आप एकाग्र कभी रह ही नहीं पाएंगे। दिन भर खोये खोये से रहेंगे।Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

मन को शांत और एकाग्र करने का इससे बढ़िया कोई उपाय नहीं है मेरे हिसाब से। मैंने इस लम्बे जीवन में इसको बड़े गहराई से अनुभव किया है।इस लिए आप लोगो को सलाह देता हूँ की आप लोग इस पर सबसे पहले  काम कीजिये और अपने पाचन शक्ति को मजबूत कीजिये। इसके लिए मैंने एक बढ़िया लेख लिखा है आप उसको जरूर पढ़ें। स्वश्थ तन में ही श्वश्थ मन होता है। 

अगर आपका पेट सही हो गया तो आप को किसी मोटिवेशन की जरुरत नहीं पड़ेगी और वैसे ही आपका मन शांत रहेगा। आप अपने मन को शांत रखने के लिए खान पान का सही तरीके से ध्यान रखे क्या खाना है क्या नहीं खाना है ? इस बात पर जरूर गौर करें।  

कृपया इसको भी पढ़ें!

अपने विचार -शक्ति को मजबूत करें :

अपने मन में चल रही तमाम उलझनों के प्रति जागरूक रहें और एक समझदारी का विकास करें। थोड़ा कुछ देर ठहर कर शांत बैठ कर देख्ने अपने विचारों को की कौनसा  सही बिचार है और कौनसा गलत विचार है? किन विचारों को लेकर मुझे चलना चाहिए और किन को तुरंत हटा देना चाहिए? इसका नियमित अभ्यास करना पड़ेगा। तभी जा कर आपको सफलता मिलेगी। 

मन की प्रकृति है विचार-जाल को बुनना। गलत सही विचार हमेशा आते रहेंगे। एक व्यकित की औसत आयु बहुत लम्बी होती है और परेशानियों और उलझनों का दौर कभी समाप्त नहीं होगा। सुख-दुःख का भवँर तो ऐसे आता है जीवन में की एक पत्थर भी दम तोड़कर खुद को सरेंडर कर देगा। आप इसको कण्ट्रोल करेंगे और रोकेंगे तो सब गड़बड़ हो जायेगा और आप ज्यादा उलझन में फंस जायेंगे।

इसलिए आप थोड़ा जागरूक हो जाइये गतिशील और चंचल मन के प्रति।समझिये की किन विचारों की जरुरत है और किन विचारों की नहीं।  कुछ ही दिनों में आप इन विचारों को रखने और हटाने में खिलाडी हो जायेंगे। कृष्ण भगवान ने कहा है न कि अभ्यास और वैराग्य की तलवार हमेशा अपने पास रखिये। जीवन भर इसका प्रयोग करिये। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

हालाँकि अगर विचारों की गति को आप पहचानना सीख गए तो अपने आप आपका विचार शक्ति मजबूत हो जायेगा और आप अपने लक्ष्य प्राप्ति के करीब पहुँच जायेंगे। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

अपने लक्ष्य से और खुद से प्यार करें:-

मन को शांत करने का एक तरीका यह भी है कि इस संसार के उलझनो को दूर कर अपने लक्ष्य को साधे और उससे प्यार करें। जो अपने जीवन  में आप पाना चाहते हैं उसके महत्व को समझे और उसको बढ़ा दें और बाकि चीजों को दरकिनार करके उसके महत्व कम करें। कहने का मतलब है की आपका लक्ष्य ही आपका सबकुछ है। इससे मन को एक सही उद्देश्य और एक दिशा भी मिल जायेगा और आपका मन भटकेगा नहीं। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

इसके अलावा दुनिया के पचरे से अपने मन को हटा कर खुद को प्यार करें। अपने मन और विचार को अपना दोस्त साथी और हमसफ़र बना लीजिये। आपका मन ही आपको सही दिशा दे देगा। इस संसार में मन को भटकाने के लिए बहुत रास्ते और साधन है। लेकिन इसको सही रास्ते पर लाने वाले एक मात्र बटोही आप हैं। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

आपका मन और आपका जीवन है तो जिम्मेदारी भी आपकी ही है जनाब। संभल जायेंगे तो जीवन सवर जायेगा। 
चिंता कम करें:-

दिन-रात मन में चल रही उलझन और बकबक को ध्यान से देखिये और समझिये की क्या मैं जो मन ही मन बोलता रहता हूँ इसमें कौनसी बात जरुरी है और कौनसी बात अनर्गल है। इस अंतर को आप लोग पहचानने लग गए तो आप का मन अपने आप एकाग्र होता चला जायेगा और सर से एक बड़ा बोझ हट जायेगा। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

शायद आप सभी को मालूम होगा की 80% बीमारियाँ चिंता करने और दिन भर सोचते रहने से ही होता है अगर हम इसको दूर करना सीख गए तो हमारा मन और तन सब स्वश्थ हो जायेगा। 

हमारा मन भूत और भविष्य के चिंता रूपी पेंडुलम में लटकर हिचकोले मारता रहता है। ये मन के भटकाव और शरीर में व्याधि लाने में अपनी भूमिका खूब निभाता है। इस चिंता को प्रभु और समय पर छोड़ दें। ये आपका अपना कभी नहीं होता है बस समय शरीर की बर्बादी करता है। जब चिंताओं को कम करना शुरू कर देंगे तो आपके जीवन में शांति आनी शुरू हो जाएगी। और मन का भटकाव कम हो जायेगा।

 बाहरी दिखावा कम करें:-

जीवन को सही दिशा देने के लिए और जीवन का मूल्य समझने के लिए आप वाह्य आडम्बर को क़म करें। इस दिखावे से कुछ होना नहीं है और आप दिन पर दिन इसमें फंसते चले जायेंगे। लाइफ पम्प एंड शो में चली जाती है और मनुष्य का जीवन नरक बन जाता है। जब सर पर कर्ज चढ़ता है तो मनुष्य की बुद्धि गोल हो जाती है और मन अपने आप चंचल हो जाता है।

अपने खर्चों पर लगाम लगाए और एक महीने का सिस्टम बना लें की कमाई कितनी है और खर्चे कितने हैं? दोनों में एक बैलन्स बनाये। और महीने का अपने भविष्य के लिए के लिए कुछ बचा के भी रखें ताकि विपरीत परिश्थिति में काम आये।ये मन को विचलित करने में काफी सहायता करता है अतः आप इस पर जरूर काम करें।अपने जरूरतों को भी लगाम दें और जरुरत के हिसाब से खर्चा करें।

विलासिता की वस्तुएं हमेशा आपके मन को बांधे रखती है।और आपके मन को बेचैन किये रहती है की ये खरीद लें और ये पहन लें।इसमें संतुलन बनायें। आप सब करिये लेकिन संतुलन के साथ। जब गाड़ी संतुलन में नहीं चलती है तो दुर्घटना जरूर होती है। अतः अगर संतुलन नहीं बनेगा तो जीवन भी अस्त व्यस्त हो जायेगा। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

प्रकृति के साथ समय बिताएं:-

मन को शांत करने का एक और बढ़िया तरीका है की हमें ज्यादा समय प्रकृति और खुद के साथ समय बिताना चाहिए। थोड़ा समय प्रकृति को दें। यही हमारी जीवनी शक्ति है जिससे हमें भरपूर ऊर्जा मिलती है। हमारा प्राण वायु मजबूत होता है और हम हमेशा तरो ताजा महसूस करते हैं। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

थोड़ा पेड़-पौधे लगाएं और उसमें निरंतर पानी देते रहें। विश्वाश मानिये बहुत मजा आएगा और आप तमाम विमारियों से छुटकारा पा जाएंगे। साथ थी साथ विश्व शक्ति से भी जुड़ें और प्रभु की भक्ति भी करें वही हमारा कल्याण करेगा और वही सब हमारा करता-धरता है। अपने जीवन की तमाम उलझनों को उसी को सौंप दें और अपने मन को पूरी तरह खाली कर दें। आपके जीवन में पूर्ण शांति आ जाएगी। 

अपने जीवन का प्रबंधन करें:-

अपने मन और जीवन को सही तरीके से चलाने के लिए अपने जीवन और दिनचर्या का सही तरीके से प्रबंधन करना चाहिए। समय की कीमत समझते हुए अपने उठने,बैठने,खाने,पिने,सोने और जागने का एक बेहतरीन प्रबंधन करें और ईमानदारी से उसका पालन करें। अपना समय फ़िज़ूल की चीजों में न लगा के सही तरीके से व्यवश्थित करें।Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

जीवन प्रबंधन करने के लिए हर चीज का एक टाइम टेबल बना लें और उसको नियमित अपनी पूजा और धर्म समझ कर उसका पालन करें। इसका कोई विशेष नियम नहीं होता है क्योंकि हर व्यक्ति का अपना अलग अलग दिनचर्या और काम होता है तो इसको अपने अनुसार ही सही तरीके बनाएं। और इस पर खुश होकर काम करें। 

कृपया इसे भी पढ़ें

ईमानदार और परिश्रमी बने:-

आपका मन खाली रहने में ज्यादा भटकता है। आप जितना खाली रहेंगे उतना ही मन चंचल और बेचैन रहेगा। अपने मन को सही दिशा देने के लिए अपने को उद्द्येश्य पूर्ति और लक्ष्य में लगाएं। अपने लक्ष्य को पाने के लिए पुरे तन,मन और धन से जुट जाएं। कर्मयोगी का मन हमेशा शांत रहता है। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

संसार में हर व्यक्ति को ईमानदार होना चाहिए। ये ईमानदारी खुदे के प्रति और दूसरों के प्रति भी होना चाहिए। जब आप ईमानदार होते हैं तो आपका मन बेचैन नहीं रहेगा।आप अपने जीवन में बहुत ही शकुन और शांति महसूस करेंगे। बेमानी और धुर्तई  मन  को नरक और अशांत बना देता है। अतः मन को शांत करने के लिए ये उधार और कर्जे से बचें।Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

अपने अन्तः करण और विचारों को शुद्ध रखें और मन को पवित्र बनाएं और जहाँ तक हो सके अपने आसपास के उलझनों को कम करें परिवार के साथ समय बिताएं और जहाँ तक हो सके बच्चों के साथ खेले और हँसे।

अपने मन और शरीर की गति में ताल मेल स्थापित करें। जैसे जैसे आपका शरीर और उम्र बढ़े  वैसे-वैसे अपने मन की गति को भी पकड़ें और मन को समझा के रखे की उम्र के साथ-साथ तुम्हे भी थम के चलना है।

बंटे हुए मन में बुद्धि काम नहीं करती। जब बुद्धि काम नहीं करती है तो फिर जीवन के गलत फैसले हमें अवनति के तरफ ले जाते हैं। भाई लोग जब जल शुद्ध और शांत रहता है तो ही हम उसका उपयोग कर पाते हैं।वैसे ही हमें गुस्सा  और अशांत मन के साथ कभी फैसले नहीं करना चाहिए और और नहीं बहुत ज्यादा ख़ुशी में कोई फैसला करना चाहिए। दोनों ही स्थितियाँ मनुष्य के लिए नुकसान दायक होती हैं।Mind ko Kaise Control Kare

हमेशा खुश रहने का प्रयास करें:-

अगर आप हमेशा खुश रहते हैं और हर काम को खुश मन से करते हैं तो चिंताएं आपको परेशान नहीं करेंगी और आपका मन भी नहीं भटकेगा। मन भटकता है बहुत ज्यादा सोचने और चिंता करने से लेकिन जो दिन भर खुश रहेगा और ख़ुशी मन से हर काम को करेगा तो फिर उसका मन क्यों भटकेगा।

इसपर हमने एक लेख लिखा है आप उसको एक बार जरूर पढ़ें

कृपया इसे भी पढ़ें

अपने सांसो पर ध्यान लगाना सीखें:-

यह अपने मन को एकाग्र करने का बहुत ही बढ़िया तरीका है। जब भी आप आराम करें उस समय दुनिया के उलझनो को अपने दिमाग से निकाल कर अपने आती-जाती सांसो पर ध्यान लगाना सीख्ने। आपको बहुत शांति मिलेगी और आपका मन भी नहीं भटकेगा। 

इसके अलावा आप योगा में अनुलोम और विलोम करें इससे बहुत लाभ मिलेगा। 

कुछ मन पसंद काम करें:-

मित्रों हमें कुछ मन पसंद कामो का चुनाव कर लेना चाहिए जैसे-कुछ मन पसंद किताब पढ़ना चाहिए,कुछ मन पसंद म्यूजिक सुनना चहिये,कुछ मन पसंद गेम खेलना चाहिए। इससे हमारे मन को एकाग्र करने में काफी सहयता मिलती है।

आप कुछ अपने प्यारे दोस्तों का एक ग्रुप भी बना लें जिसमें हंसी मजाक होता हो।Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

एक बात हमेशा याद रखें अगर अपने मन को एकाग्र करना सीख गए तो जीवन सार्थक हो जायेगा और आपके जीवन का मूल्य ही कुछ और होगा। आपको अपने सपनो को पूरा करने में तनिक भी देरी नहीं लगेगी। और आप वास्तव में क्या हो? इसकी एक अच्छी समझ का विकास होगा। आपको अपना असली उद्देश्य समझ में आ जायेगा। अतः अपने जीवन में इस पर जरूर काम करें।

अपने छोटे मोटे दुखों को कम करने में आप मास्टर हो जायेगें और अगर कोई बड़ा दुःख भी जीवन में आता है तो उससे बाहर निकलने में आसानी होगी। और आप अपना ही नहीं दूसरों के दुखो और परेशानियों को सुलझाने में माहिर हो जायेंगे। आप के अंदर एक अलग तरह की बुद्धि का विकास होगा। आप निश्चित ही दुनिया के भेड़ चाल से अलग हो जायेंगे। आपके व्यक्तित्व में खूबसूरती से निखार आएगा और आपके आदेशों का पालन भी बड़े सिद्दत के साथ होगा। Mind ko Kaise Control Kare in Hindi

अपने जीवन में नकारात्मक और सकारात्मक शब्द कुछ होता नहीं है। बस एक समझदारी होनी चाहिए मन को समझने की। अपने मन को अपना दोस्त बना लीजिये। सबसे बड़ा दोस्त और सब बड़ा दुश्मन यही है आपका। अगर दोस्त बन गया तो आपके जीवन को सवार देगा और दुश्मन बन गया तो फिर जिंदगी नरक बनते समय नहीं लगेगी। तो फिर आप लोग खुद के प्रति समझदार बने और मन की गति को समझें। 

मित्रों,साथियों! अब मुझे मेरे लेख को यहीं विराम देने की इज़ाज़त दीजिये अगर कहीं कोई कमी वेशी रह गयी हो तो आप जरूर कमेंट के द्वारा अपने प्रश्न पूछिए। धन्यवाद! Mind ko Kaise Control Kare in Hindi


Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hi! I am Ajitabh Rai and Founder of www.importantgyan.com My main aim is Explore & Provide best,vailubale and accurate knowledge to our viewers like Job, Yojna, General Study, Health, English, Motivation and Others important & Creative Idea across India. All aspirants & Viewers can get all details with easily from my respective website.

Leave a Comment

error: Content is protected !!