Gas agency dealership procedure in Hindi 2020

Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Gas agency dealership procedure in Hindi

नमस्कार साथियों!

Gas agency dealership procedure

इम्पोर्टेन्ट ज्ञान के इस सीरीज में आप सभी का स्वागत है। मित्रों आज हम आप लोगों के लिए एक नया बिज़नेस आईडिया लेकर आये हैं जिसका विषय है की खुद के व्यापार के लिए  गैस एजेंसी कैसे खोलें।इसमें कितना पैसा खर्च होता है और क्या योग्यता होनी चाहिए। यह बहुत ही शानदार बिज़नेस है और स्वयं का मालिक बनकर आप अपने लिए एक बहुत ही अच्छा बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको गैस एजेंसी लेने की पूरी प्रक्रिया बताएँगे और इस बिज़नेस के क्या फायदे हैं उस बात पर  जिक्र करेंगे।आप इस लेख के साथ बने रहें अंत तक। Gas agency dealership procedure in Hindi

इस संसार में हर प्रकार के लोग होते हैं। कुछ लोग नौकरी पसंद करते हैं और कुछ लोग व्यापार करना पसंद करते हैं। एंटरप्रेन्योर बनकर पैसा कमाना चाहते हैं और साथ में शोहरत भी। गैस एजेंसी खोलना और इससे पैसा कमाना ये दोनों ही काम साफ सुथरा है। थोड़ी जटिल प्रक्रिया जरूर है लेकिन आपको इसकी एजेंसी मिल जाती तो इसका बिज़नेस चलाना बहुत आसान है। Gas agency dealership procedure in Hindi

गैस एजेंसी क्या होता है?

साथियों पुराने ज़माने में भोजन बनाने के लिए लोग लकड़ी के ईंधन और गोबर गैस पर पूरी तरह निर्भर  रहते थे लेकिन समय के साथ सब कुछ बदलता चला गया और बहुत सारे नगर और शहर स्थापित हुए जहाँ ईंधन की व्यवस्था का एकमात्र विकल्प गैस था। इसको और व्यापक पैमाने पर पहुँचाने के लिए एक स्किम को बहुत ही जोर शोर से बढ़ावा दिया गया जिसका नाम है-‘प्रधान मंत्री उज्वल योजना ‘ इससे गैस एजेंसी के क्षेत्र में एक क्रांति आयी। इस योजना के तहत गैस का प्रयोग करने और वायुमंडल को प्रदूषण  से बचाने की बात पर जोर दिया गया। Gas agency dealership procedure in Hindi

पेट्रोलियम कंपनी जब किसी व्यक्ति विशेष या संस्था को किसी विशेष एरिया में Gais Distributor  के रूप में नियुक्त करती हैं तथा वह व्यक्ति विशेष या संस्था विशेष गैस एजेंसी चलाने के लिए office या भंडारण खोलता है। यही मुख्य रूप से गैस एजेंसी कहलाता है। इसके अंतर्गत एक ऑफिस जहाँ बुकिंग होता है और दूसरा सिलेंडर रखने के लिए गोदाम। वैसे देखा जाय तो आज से कुछ समय पहले गैस एजेंसी का ज्यादा बोल बाला शहरों में था लेकिन अब प्रधान मंत्री योजना तहत अब गांव और दूर दराज के इलाकों में भी इसकी डिमांड बढ़ता ही जा रहा है।   Gas agency dealership procedure in Hindi

गैस एजेंसी खोलने के फायदे

साथियों! यदि आप गैस एजेंसी खोलना चाहते हैं तो हम आप लोगों को बताएँगे की इसको खोलने से क्या क्या फायदे होते हैं? यह एक बहुत ही उम्दा और उभरता हुआ बिज़नेस है। इसमें कोई मोलभाव भी नहीं करता है। जितनी कीमत होती है उतना लोगों को पेमेंट करना पड़ता है।इसमें कमाई भी अच्छी खासी होती है। यही कारण होता है की यह बिज़नेस लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। Gas agency dealership procedure in Hindi

यह व्यापार ऐसा है जिसकी हमेशा लोगों को जरूरत पड़ता है। इसको आप एक तरह से सदाबहार बिज़नेस कह सकते हैं।कहने का मतलब यह है की इसका डिमांड कभी ख़त्म नहीं होगा और अब तो गांव और दूर दराज के एरिया में इसकी खपत और जरूरत ज्यादा से ज्यादा बढ़ रहा है। डिजिटल सर्विस की वजह से तो इस बिज़नेस को चलाना और आसान हो गया है. 

वैसे आज के तारीख में सम्पूर्ण भारत में तीन कम्पनियाँ सबसे ज्यादा प्रसिद्ध हैं। एचपी,इंडेन और भारत। लेकिन इसके आलावा भी कुछ निजी स्तर की कम्पनियाँ हैं जैसे-रिलायंस,एस्सार आदि। Gas agency dealership procedure in Hindi

एजेंसी शुरू करने के लिए कैसे पता करें?

वैसे देखा जाय तो इंडिया में गैस एजेंसी शुरू करने के लिए लिए थोड़ी मसक्कत करनी पड़ती है क्योंकि इसकी एजेंसी लेने की प्रक्रिया थोड़ी जटिल है। लेकिन मुश्किल नहीं कह सकते हैं। हम यहाँ आपको गाइड करेंगे की आप गैस एजेंसी कैसे खोल सकते हैं? बस आप इस लेख के साथ अंत तक बने रहें। Gas agency dealership procedure in Hindi

आयल कंपनी जब कभी भी एजेंसी देने के लिए प्लानिंग करती है तो स्थानीय स्तर पर जैसे रेडियो, न्यूज़ पेपर आदि में इसके लिए विज्ञापन जारी करती है।इसमें वह अपने सारे टर्म्स और कंडीशंस भी जारी करती है।  

इसके अलावा भी ये सारे डिटेल्स अपने वेबसाइट पर भी पब्लिश करती है। जिसका नाम है-https://www.lpgvitarakchayan.in/ आप यहाँ पर क्लिक करके विजिट कर सकते हैं और सभी डिटेल्स चेक कर सकते हैं। आपको लोगों को यहाँ पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

डिस्ट्रीब्यूशनशिप के प्रकार:– 

जब भी आप गैस एजेंसी खोलना चाहते हैं तो आप लोगों के लिए यह जरुरी है की एलपीजी डिस्ट्रीब्यूशनशिप कितने प्रकार का होता है? यह जानना अति आवश्यक है। इसका विभाजन एरिया के आधार पर बांटा गया है। यह मुख्य रूप से चार प्रकार का होता है। 

१)नगरीय वितरक:- 

नगरों और महानगरों के अंतर्गत आने वाले वितरक को शहरी डिस्ट्रीब्यूटर कहा जाता है। यहाँ से डिस्ट्रीब्यूटर नगर और महानगर में अपना ऑफिस और गोडाउन बनाकर बुकिंग और डिलीवरी जैसे सेवाएं प्रदान करता है। यह नगरपालिका के एरिया  में आता है।   

२)रुर्बन वितरक(ग्रामीण शहरी):-

जो गैस एजेंसी ग्रामीण और शहर में आती हैं वो रुर्बन डिस्ट्रीब्यूटर कह लाती हैं। इसका मतलब यह होता है की गैस एजेंसी शहर में होती है और उस शहर से जुड़े गांव में ये वितरक अपनी सारी सेवाएं जैसे बुकिंग और सिलेंडर डिलीवरी करती हैं। ये वितरक नगर पालिका से १५ किलोमीटर तक की दुरी कवर करते हैं। 

३)ग्रामीण वितरक(गांव में):-  

जो केटेगरी के वितरक गांव के main मार्किट में अपना ऑफिस और गोडाउन बनाकर बुकिंग और डिलीवरी जैसे काम करते हैं।ये वितरक १५ किलोमीटर तक और कभी कभी इससे ज्यादा एरिया कवर करते हैं। Gas agency dealership procedure in Hindi

४)सुदूर एरिया वितरक:-

जब वितरक गांव से सुदूर एरिया में अपना ऑफिस खोलकर और गोडाउन बनाकर बुकिंग और डिलीवरी जैसे कामों को सम्पादित करता है तो उसे सुदूर एरिया वितरक के रूप में जाना जाता है। ऐसे एरिया में थोड़ा मार्ग बाधित की समस्या बनी रहती है।

एजेंसी लेने के लिए अर्हता(योग्यता)

  • आवेदक इंडिया का नागरिक और यहाँ का मूल निवासी हो। 
  • आवेदक हाई स्कूल पास हो किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड से। अगर आवेदक स्वतंत्रता सेनानी है तो उसको शिक्षा में छूट प्रदान किया गया है। 
  • आवेदक की उम्र सीमा २१ वर्ष से अधिक और ६० वर्ष से कम हो। अगर आवेदक स्वतंत्रता सेनानी है तो उसको शिक्षा में छूट प्रदान किया गया है।  
  • अगर आवेदक किसी भी Oil marketing company का कर्मचारी या सम्बन्धी है तो उसे एजेंसी नहीं मिलेगी। 
  • आवेदन करता के पास सिलेंडर रखने के लिए जमीन होना चाहिए।  
  • आवेदक की भ्रस्टाचार में लिप्त ना हो। 
  • आवेदक की छवि साफ सुथरी हो। 

गैस एजेंसी के लिए आवश्यक मापदंड

  • गैस एजेंसी चालू करने के लिए गोडाउन का लाइसेंस होना जरुरी है। यह लाइसेंस पेट्रोलियम और सुरक्षा संगठन के विस्फोटक विभाग के मुख्य नियंत्रक से मिलता है।  Gas agency dealership procedure in Hindi
  • रुर्बन एरिया वितरक(शहरी और शहरी ग्रामीण) गोडाउन में ८००० KG तक LPG सिलेण्डर स्टोरेज कर सकते हैं। 
  •  रूरल वितरक(ग्रामीण डिस्ट्रीब्यूटर) अपने गोडाउन में ५००० KG तक LPG सिलेण्डर स्टोरेज कर सकते हैं। 
  • सुदूर एरिया वितरक अपने गोडाउन में ३००० KG तक LPG सिलेण्डर स्टोरेज कर सकते हैं। 
  • रुर्बन एरिया वितरक(शहरी और शहरी ग्रामीण) का गोडाउन सिटी के सीमा से १५ KM के अंदर ही होना चाहिए। 
  • रूरल वितरक(ग्रामीण डिस्ट्रीब्यूटर) का गोडाउन सिटी के सीमा से १५ KM के अंदर ही होना चाहिए।
  • जब आवेदक LPG गैस के गोडाउन बनाएंगे उसी जमींन के अंदर से कोई नाला,या नहर या कोई फालतू गड्ढा नहीं होना चाहिए। 
  • आवेदक को इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए एक office बनाने की भी जरूरत पड़ेगी,और साथ ही साथ डिलीवरी देने के लिए आवश्यकता अनुसार २ या ३ या चार वाहनों की भी जरूरत पड़ेगी। 
  • गैस एजेंसी लेने के लिए उद्यमी के पास पूंजी लगभग १५ से १७ लाख के करीब होना चाहिए।
  • एजेंसी लेने से पहले आप अपना पूरा डॉक्यूमेंट सही तरीके से जाँच लें ताकि जब आवेदन करें तो कोई कमी नहीं रह जाये क्योंकि आपने एक बार सबमिट कर दिया तो आप उस्मने तनिक भी सुधार नहीं कर पायेगें। 
  • उद्यमी चाहें तो एक स्टेट में अलग-अलग स्थान के लिए आवेदन कर सकते हैं लेकिन आपको फीस प्रत्येक स्थान के लिए अलग अलग देना पड़ेगा।  Gas agency dealership procedure in Hindi
  •  जब आप ऑनलाइन फॉर्म भर लेते हैं तो उसको सेव भी कर सकते हैं लेकिन अंतिम तारिक से पहले ही सब्मिट करना पड़ेगा। तभी आपका पूरा फॉर्म कम्प्लीट माना जायेगा और आपका आवेदन स्वीकार हो पायेगा। 
  • जब आप ऑनलाइन फॉर्म अप्लाई करते हैं तो उस समय फोटो और हस्ताक्षर की जरुरत पड़ेगा क्योंकि इसको स्कैन करके अपलोड करना पड़ता है। जब आप ऑनलाइन फॉर्म कम्प्लीट रूप से सब्मिट कर देते हैं तो आपको उसकी एक कॉपी प्रिंट करके रख लेना चाहिए लेकिन उसकी कॉपी किसी ऑफिस में जमा करने की जरूरत नहीं पड़ती है।  
  • एक बात और ध्यान दें की आप अपने अलावा अपने परिवार के अन्य सदस्य के साथ साथ सौतेले भाई बहन, दामाद, सास ससुर के नाम पर भी एजेंसी ले सकते हैं। 

एजेंसी के लिए आवेदन फीस 

शहरी एरिया  और शहरी ग्रामीण एरिया के सामान्य वर्ग के लोगों के लिए १००००/-रुपए, OBC वर्ग के लिए ५०००/- रुपए और एससी और एसटी वर्ग  के  लिए ३०००/- रुपए है। ग्रामीण एरिया  के सामान्य  वर्ग के लिए ८०००/- हजार रुपए, OBC वर्ग के लिए ४००० /-  रुपए और एससी और एसटी वर्ग के  लिए २५००/- रुपए है। आप जब आवेदन पत्र भर रहे हैं तो इसके शुल्क को लेकर सावधान रहें की आप जब शुल्क भर देंगे वो शुल्क नॉन रिफंडेबल होता है। अर्थात अगर किसी कारण से आपका आवेदन पत्र अस्वीकार हो जाता है तो वो पैसा आपको वापस नहीं मिलता है। इस बात का हमेशा ध्यान रखने। 

वर्ग  शहरी /शहरी ग्रामीण एरिया ग्रामीण एरिया
सामान्य वर्ग  10000/- 8000/-
OBC  5000/- 4000/-
SC/ST  3000/- 2500/-

एजेंसी के लिए सिक्योरिटी फीस 

जब आवेदक का एप्लीकेशन फॉर्म स्वीकार हो जाता है तो कुछ दिन के भीतर ही आवेदक को सिक्योरिटी फीस का कम से कम १०%  जमा करना पड़ता है। लेकिन शुल्क नॉन रिफंडेबल ही होता है। और आप को सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स भी इसके साथ जमा करना होता है शहरी एरिया और शहरी ग्रामीण एरिया वितरक के लिए पांच लाख रुपया सिक्योरिटी फीस और ग्रामीण एरिया वितरक के लिए चार लाख का सिक्योरिटी फीस रखा गया है। आरक्षण वर्ग के लोगों के लिए इससे कम सिक्योरिटी शुल्क निर्धारित है। जब आवेदक को अप्पॉइंट लेटर मिल जाता है तो पूरा सिक्योरिटी शुल्क जमा करना पड़ता है। Gas agency dealership procedure in Hindi

गैस एजेंसी के लिए आवेदन कैसे किया जाता है?

इंडिया में सभी लोकप्रिय कंपनियां इसकी डीलरशिप देने के लिए एक तो लोकल न्यूज़पेपर, रेडियो आदि के माध्यम से अपना विज्ञापन प्रकाशित करती हैं और इसके अलावा आप इनके ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करके भी इनके बारे में विधिवत जानकारी हासिल कर सकते हैं। यहाँ आपको हर प्रकार की जानकारी विस्तृत रूप से मिल जाएगी।  

गैस एजेंसी के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस

आवेदक रजिस्ट्रेशन के लिए Official Website – एलजीपी वितरक चयन पर विजिट करके इसके रजिस्ट्रेशन प्रोसेस को पूरा कर सकता है। जब आप इस ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करते हैं तो यहाँ पर आपको “रजिस्ट्रेशन” का ऑप्शन दिखायी देगा। 

Gas agency dealership procedure
जब आप “रजिस्टर” वाले ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो के नया tab ओपन होकर आ जायेगा। कुछ इस तरह का इंटरफ़ेस आपको दिखायी देगा 

जो जो डिटेल्स इसमें पूछा गया है वो आप एक एक करके सही सही भरते जाएं एक बात का ध्यान रखें की कोई गलती न हो क्योंकि जब आप एक बार जो आपने भर दिया उसमें आप दुबारा एडिट नहीं कर सकते हैं। अतः सारे कॉलम ध्यान से भरें। 

Gas agency dealership procedure

जब सभी जरुरी डिटेल्स भर लेते हैं और पासवर्ड डाल देते हैं एक आपको Captcha कोड भरना होगा। 

Gas agency dealership procedure

इसके बाद आप जेनेरेट OTP  पर क्लिक कर दें। जब आप ये डिटेल्स भर देते हैं तो आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर एक OTP आएगा। जब आप उस OTP को कन्फर्म कर देंगे तो इसके बाद आपका अकाउंट बन के तैयार हो जायेगा। 

Gas agency dealership procedure

जब आपका अकाउंट बन जायेगा तो आपको लॉगिन वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। 

Gas agency dealership procedure

जब आप पूरा डिटेल्स भर लेते  इसके बाद आपको अपना फोटोग्राफ्स और सिग्नेचर स्कैन करके उपलोड करना होगा।इसके बाद सबमिट बटन पर क्लीक कर दें। बस आपको ये ध्यान रखना है की सारे ऑप्शन अच्छे से भरें ताकि कोई गलती ना हो।जब ये सब प्रक्रिया पूरी हो जाये तो कुछ दिन बाद आपके पास इंटरव्यू के ले कम्पनी Gas agency dealership procedure in Hindi

 फिर आपको कुछ दिन के बाद इंटरव्यू के लिए कंपनी के तरफ से ई-मेल या कॉल आयेगा, अगर आपका चयन हो जाता है तो कंपनी आपको आगे की प्रक्रिया बतायेगी।

फीस की राशि कैसे भरें?

जब आपका आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है तो आपको फीस भरना होता है जो आप लोग अपने डेबिट कार्ड,नेट बैंकिंग आदि से ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं। लेकिन यहाँ एक बात ध्यान दें की अगर आपके अकाउंट से पैसा कट जाता है और आपका वेबसाइट पर पेमेंट गेटवे में ट्रांज़ैक्शन फेल्ड शो करता है तो आप चिंतित एकदम ना हो। आप पेमेंट दुबारा करें क्योंकि आपका पुराना पेमेंट बैंक वापस कर देगा लेकिन आपको दुबारा तुरंत पेमेंट करना पड़ेगा। Gas agency dealership procedure in Hindi

सिलेक्शन के बाद आवश्यक दस्तावेज

जब आपका चयन हो जाता है तो इसके बाद डीलरशिप के लिए कुछ मुख्य दस्तावेज आपको सेल्फ अटेस्टेड करके 

आवेदक जब गैस एजेंसी या डीलरशिप के लिए चयनित हो जाता है तो उनको सभी आवश्यक दस्तावेजों को स्वप्रमाणित करके ऑफिस में जमा करना होगा जैसे की शिक्षा प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, पैन कार्ड,आधार कार्ड, जाति वैधता प्रमाण पत्र, गोडाउन भूमि की फोटो कॉपी, शोरूम की फोटो कॉपी, रेजीडेंसी प्रमाण पत्र। Gas agency dealership procedure in Hindi

तो मित्रों अब मेरी लेखनी को यहीं विराम देने की अनुमति दीजिये। अगर कहीं कोई कमी-वेशी रह गयी हो तो उसके लिए क्षमा चाहता हूँ। हाँ आपके सुझाव और कमेंट का इंतजार जरूर रहेगा। आप अपने सुझाव  कमेंट के जरिये जरूर दें।

कृपया इसे भी पढ़ें 

FAQ

प्रश्न:-गैस एजेंसी लेने से आवेदक को क्या फायदा होता है?

उत्तर:-यह एक बहुत ही उम्दा और उभरता हुआ बिज़नेस है। इसमें कोई मोलभाव भी नहीं करता है। जितनी कीमत होती है उतना लोगों को पेमेंट करना पड़ता है।इसमें कमाई भी अच्छी खासी होती है। यही कारण होता है की यह बिज़नेस लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। 

यह व्यापार ऐसा है जिसकी हमेशा लोगों को जरूरत पड़ता है। इसको आप एक तरह से सदाबहार बिज़नेस कह सकते हैं।कहने का मतलब यह है की इसका डिमांड कभी ख़त्म नहीं होगा और अब तो गांव और दूर दराज के एरिया में इसकी खपत और जरूरत ज्यादा से ज्यादा बढ़ रहा है। डिजिटल सर्विस की वजह से तो इस बिज़नेस को चलाना और आसान हो गया है. 

प्रश्न:-प्रमुख आयल कंपनियां एजेंसी देने के लिए कैसे advertisement पब्लिश करती हैं?

उत्तर:-आयल कंपनी जब कभी भी एजेंसी देने के लिए प्लानिंग करती है तो स्थानीय स्तर पर जैसे रेडियो, न्यूज़ पेपर आदि में इसके लिए विज्ञापन जारी करती है।इसमें वह अपने सारे टर्म्स और कंडीशंस भी जारी करती है।  

इसके अलावा भी ये सारे डिटेल्स अपने वेबसाइट पर भी पब्लिश करती है। जिसका नाम है-https://www.lpgvitarakchayan.in/ आप यहाँ पर क्लिक करके विजिट कर सकते हैं और सभी डिटेल्स चेक कर सकते हैं। आपको लोगों को यहाँ पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

प्रश्न:-इंडिया में कितनी पॉपुलर कम्पनियाँ गैस एजेंसी की डस्ट्रीब्यूशनशिप प्रदान करती हैं?

उत्तर:-भारत में कुल चार पांच प्रमुख कम्पनियाँ हैं जो एजेंसी लेने के लिए डीलरशिप प्रदान करती हैं जैसे-भारत, HP, इंडेन रिलायंस और एस्सार। ये सब आयल कम्पनियाँ हैं जो एजेंसी देती हैं। 

प्रश्न:-एजेंसी लेने के लिए क्या अर्हता रखी गयी है?

उत्तर:-

  • आवेदक इंडिया का नागरिक और यहाँ का मूल निवासी हो। 
  • आवेदक हाई स्कूल पास हो किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड से। अगर आवेदक स्वतंत्रता सेनानी है तो उसको शिक्षा में छूट प्रदान किया गया है। 
  • आवेदक की उम्र सीमा २१ वर्ष से अधिक और ६० वर्ष से कम हो। अगर आवेदक स्वतंत्रता सेनानी है तो उसको शिक्षा में छूट प्रदान किया गया है।  

प्रश्न:-एजेंसी के लिए क्या फ़ीस रखी गयी है?

उत्तर:-शहरी एरिया  और शहरी ग्रामीण एरिया के सामान्य वर्ग के लोगों के लिए १००००/-रुपए, OBC वर्ग के लिए ५०००/- रुपए और एससी और एसटी वर्ग  के  लिए ३०००/- रुपए है। ग्रामीण एरिया  के सामान्य  वर्ग के लिए ८०००/- हजार रुपए, OBC वर्ग के लिए ४००० /-  रुपए और एससी और एसटी वर्ग के  लिए २५००/- रुपए है।

प्रश्न:-गैस एजेंसी लेने के लिए सिक्योरिटी फीस क्या होती है?

उत्तर:-जब आवेदक का एप्लीकेशन फॉर्म स्वीकार हो जाता है तो कुछ दिन के भीतर ही आवेदक को सिक्योरिटी फीस का कम से कम १०%  जमा करना पड़ता है। लेकिन शुल्क नॉन रिफंडेबल ही होता है। और आप को सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स भी इसके साथ जमा करना होता है शहरी एरिया और शहरी ग्रामीण एरिया वितरक के लिए पांच लाख रुपया सिक्योरिटी फीस और ग्रामीण एरिया वितरक के लिए चार लाख का सिक्योरिटी फीस रखा गया है।

प्रश्न:-जब हम ऑनलाइन फॉर्म सबमिट करते हैं तो क्या दुबारा उसको एडिट कर सकते हैं क्या?

उत्तर:-जब हम ऑनलाइन फॉर्म सबमिट करते हैं तो दुबारा उसको एडिट नहीं कर सकते अतः इसको बड़े ध्यान से भरे। 

प्रश्न:-जब हम ऑनलाइन फॉर्म सबमिट करते हैं तो उसकी हार्ड कॉपी क्या आयल कंपनी के ऑफिस में जमा करना होता है या नहीं ?

उत्तर:-आप ऑनलाइन फॉर्म भर कर उसको सेव कर लें या उसका एक प्रिंट निकाल कर अपने पास रख लें। 

प्रश्न:-जब हमारे अकाउंट से पैसा कट जाता है और ट्रांज़ैक्शन फेल्ड हो जाता है तो हमें क्या करना चाहिए

उत्तर:-अगर आपके अकाउंट से पैसा कट जाता है और आपका वेबसाइट पर पेमेंट गेटवे में ट्रांज़ैक्शन फेल्ड शो करता है तो आप चिंतित एकदम ना हो। आप पेमेंट दुबारा करें क्योंकि आपका पुराना पेमेंट बैंक वापस कर देगा लेकिन आपको दुबारा तुरंत पेमेंट करना पड़ेगा। 

प्रश्न:-क्या एक व्यक्ति एक राज्य के विभिन्न स्थानों के लिए अप्लाई कर सकता है क्या?

उत्तर:-जरूर कर सकता है लेकिन आवेदक को एक बात जरूर ध्यान में रखना चाहिए की सभी जगहों के लिए पेमेंट भी अलग अलग रहेगा। 


Please Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hi! I am Ajitabh Rai and Founder of www.importantgyan.com My main aim is Explore & Provide best,vailubale and accurate knowledge to our viewers like Job, Yojna, General Study, Health, English, Motivation and Others important & Creative Idea across India. All aspirants & Viewers can get all details with easily from my respective website.

Leave a Comment